शुक्रवार, 24 अप्रैल 2009

माडलिंग में भी महात्‍मा गांधी सबके बापू

माडल व माडलिंग - ये दो शब्‍द ऐसे हैं जिन्‍हें सुनने या पढने के बाद हमारे जेहन में किसी सुंदर काया की लडकी या चिकने-चुपने या फ‍िर रफ--टफ युवक की छवि उभरने लगती है। और वह भी किसी न किसी प्रोडक्‍ट के साथ। यानि, हर माडल की पहचान किसी न किसी प्रोडक्‍ट के साथ जुडी रहती है। और हां, अगर आपको यह बताना हो कि इंडिया का सबसे बडा माडल कौन है तो निश्चित ही आप कुछ देर सोचने पर विवश भी हो जाएं। पर आपको जानकर आश्‍चर्य होगा कि एक नई जानकारी के अनुसार महात्‍मा गांधी इंडिया के सबसे बडे माडल हैं। टेलीविजन, फ‍िल्‍म, न्‍यूजपेपर, मैगजीन और इंटरनेट जैसे मशहूर माध्‍यमों पर अधिकाधिक दिखने वाले और कमाई के स्‍तर पर अव्‍वल अमिताभ बच्‍चन, शाहरुख खान उनके आगे कहीं भी नहीं हैं।

यह बात थोडी अटपटी सी है पर इस बात का खुलासा तब हुआ जब खादी ने अपनी ब्रांडिंग के लिए किसी बडे माडल की तलाश शुरू की। अमिताभ बच्‍चन के अलावा राहुल गांधी सहित कई युवा नेताओं के नामों पर विचार करने के बाद निष्‍कर्ष यह निकला कि खादी के लिए महात्‍मा गांधी से बडा माडल कोई नहीं हो सकता। पूरी दुनिया में खादी की पहचान गांधी से ही है। यह बात शायद सबसे लोकप्रिय अभिनेता अमिताभ बच्‍चन के फैन्‍स को नागवार गुजरे।

केवीआईसी जो खादी के निर्माण व विपणन की केंद्रीय एजेंसी है ने इसके बाद खादी के ब्रांड एम्‍बेसेडर की नियुक्ति पर विचार करना ही छोड दिया। खादी के ब्रांड एम्‍बेसेडर की नियुक्ति के लिए अमिताभ व राहुल गांधी के अलावा जिन और नामी-गिरामी लोगों के नाम पर विचार किया गया उनमें हेमामालिनी, कपिल देव, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया, उमर अब्‍दुल्‍ला, प्रकाश्‍ा जावडेकर और नवीन जिंदल आदि शामिल हैं। पर ये सारे के सारे महात्‍मा गांधी के आगे फेल हो गए। यानि, बापू से उपर कोई नहीं हो सकता। हो भी क्‍यों न। आखिर महात्‍मा गांधी ने ही तो खादी को स्‍वतंत्रता की पोशाक कहा था।

1 टिप्पणी:

  1. बापू तो आदर्श हैं - अन्य क्षेत्रों में भी और मॉडलिंग में भी।

    याद आता है सरोजिनी नायडू ने उन्हें मिकी माउस कहा था। और मिकी भी कितना बड़ा स्टार है!

    उत्तर देंहटाएं