सोमवार, 2 मार्च 2009

शोक संदेश - संजय सिरोही नहीं रहे

मित्रों हमने अपने एक युवा पत्रकार साथी पचीस वर्षीय संजय सिरोही को खो दिया। रविवार रात एक बजे दैनिक जागरण, मेरठ आफ‍िस से घर लौटते वक्‍त किसी काल रुपी वाहन ने उसे हमारे बीच से छिन लिया। मोटरसाइकिल से घर लौट रहे संजय की मौत वाहन से टक्‍क्‍र लगने के बाद तुरंत घटनास्‍थल पर ही हो गई। वे मेरठ की अजंता कालोनी में रहते थे। अभी चार महीने पूर्व ही संजय की शादी हुई थी। मेरठ का मीडिया समुदाय शोकाकुल है। संजय इससे पूर्व अमर उजाला, मेरठ में कार्यरत थे।
मेहनती, होनहार व मिलनसार स्‍वभाव के संजय को खोने का गम हम सभी पत्रकार सार्थियों को है। हम उनकी आत्‍मा की शांति की कामना करते हैं और इस दुख की बेला में उनके परिजनों के साथ हैं।

11 टिप्‍पणियां:

  1. दुखःद समाचार दिवंगत आत्मा की शांति के लिये ईश से प्रार्थना है। प्रभु दुख की इस घडी में परिजनों को सहनशक्ति दे ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही दुखःद समाचार. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे तथा उनके परिजनों का होंसला बनाए रखे.

    उत्तर देंहटाएं
  3. दुखद समाचार है। भगवान उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करे।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही दुखःद समाचार,भगवान उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करे।

    उत्तर देंहटाएं
  5. सड़क दुर्घटनाएं कैंसर बन चुकी हैं रोज ही किसी न किसी प्रिय व्यक्ति को हम से छीन लेती हैं। संजय को हार्दिक श्रद्धान्जली।

    उत्तर देंहटाएं
  6. ईश्वर साथी संजय के परिजनों को इस शोकाकुल घड़ी में धैर्य प्रदान करे. सूचना देने के लिए धन्यवाद.

    उत्तर देंहटाएं
  7. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे ..श्रृद्धांजलि.

    उत्तर देंहटाएं
  8. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे ....

    उत्तर देंहटाएं
  9. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे.

    उत्तर देंहटाएं